रविवार, 14 फ़रवरी 2010

मैं रानी 

आखिर लड़की होना गुनाह है क्या?



2 टिप्‍पणियां:

  1. कतई नहीं. बेटी होना, बहन होना, माँ होना, पत्नी होना जब गुनाह नहीं तो लड़की होना गुनाह कैसे हो सकता है?
    क्या पुरुष होना गुनाह है? नहीं.
    परमात्मा की सबसे खूबसूरत कृति है मनुष्य, और मनुष्य होना सबसे सुखद एहसास, सबसे बड़ा पुण्यों का फल.
    सबसे बड़ी ज़िम्मेदारी भी, खुद को, ज़माने को - दुनिया को अपने आने के बाद और ज्यादा बेहतर बनाने की!

    उत्तर देंहटाएं